आल इंडिया फैजान- ए-मदीना व इसके इमाम मुफ्ती खुर्शीद आलम अपनी गुंडागर्दी बन्द करें नही तो इसका मुह काला करेंगे:-भारद्वाज

Posted on Posted in Uncategorized

कट्टर सनातनी हिन्दू हितेश भारद्वाज ने निदा खान और फरहत के खिलाफ जारी फतवे का कड़ा विरोध करते हुए केंद्र व प्रदेश सरकारों से मांग की है कि धर्म की आड़ में गुंडागर्दी हिंदुस्तान में नही चलेगी ऐसे मुल्ला मुल्लाओं को जो एक भारत की नारी को 3 दिन के भीतर देश छोड़ने का हुक्म के साथ सिर मुंडने और पत्थर मारने की धमकी देतें हैं यह सरेआम धर्म के नाम पर गुंडागर्दी कर रहें हैं और सरकार मौन धारण कर तमाशा देख रही है।भारद्वाज ने कहा कि हिन्दुस्तान में किसी को भी सजा देने का हक़ न्यायालय को है ना कि किसी मुल्ला मौलवी को।

भारद्वाज ने कहा कि नारी शक्ति के सम्मान में ट्रिपल तलाक और हलाला के खिलाफ आवाज उठाने को लेकर मुस्लिम कट्टरपंथियों के निशाने पर आने वाली निदा खान और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत नकवी के खिलाफ बरेली के एक इस्लामिक एनजीओ ने फतवा जारी किया है।  निदा के खिलाफ फिर फतवा जारी हुआ है। फतवे में कहा गया है कि जो भी इसके सिर के बाल काटकर लाएगा उसे 11786 रुपये दिए जाएंगे और यदि उसने तीन तीन के अंदर देश नहीं छोड़ा तो उस पर पत्थरों से हमला कर दिया जाएगा।’
आपको बता देें कि हजरत खानदान की बहू निदा खान के खिलाफ कुछ दिन पहले दरगाह आला हजरत के दारुल इफ्ता ने फतवा जारी किया था और उनका हुक्का पानी बंद करने का फरमान सुनाया था।
इमाम मुफ्ती खुर्शीद आलम द्वारा जारी किए गए इस फतवे में कहा गया था, ‘यदि निदा खान बीमार पड़ी हैं तो उन्हें कोई देखने ना जाएं, यदि उनकी मौत होती है तो कोई जनाजे में शरीक ना हों और ना ही कब्रिस्तान में दफन होने दें। यदि कोई निदा खान की मदद करता है तो उसे भी यहीं सजा मिलेगी।’ फतवे में  कहा गया था कि जब तक निदा खान सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगती है तो उनसे कोई मुस्लिम संपर्क नहीं रखेगा।

मामला यह हैं कि, निदा खान और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी की बहन फरहत नकवी के खिलाफ बरेली के एक इस्लामिक एनजीओ ने यह फतवा जारी किया है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार विवादास्पद फतवे देने के लिए चर्चा में रहने वाले ऑल इंडिया फैजान-ए-मदीना काउंसिल के प्रमुख मोइन सिद्दीकी नूरी ने फतवा देते है यह  कहा, “जो कोई भी निदा खान और फरहत नकवी का सिर मुंडन करेगा और भारत से भगा देगा उन्हें हमारा संगठन 11 हजार 786 रुपये का पुरस्कार देगा।”
भारद्वाज के अनुसार ऑल इंडिया फैजान-ए-मदीना ने पहली बार ऐसा फतवा नहीं जारी किया है। इससे पहले इस संगठन ने कनाडाई इस्लामिक विद्वान तारेक फतह का भी सिर काटने की धमकी दी थी। संगठन पर शिया वक्फ बोर्ड के चैयरमैन वसीम रिजवी पर भी धमकी देने का आरोप है।

भारद्वाज ने कहा कि ये कट्टरपंथी मुस्लिम किस कदर तानाशाही और धर्म की ठेकेदारी करते है आप उसका अंदाज़ा इसी बात से लगा सकते है कि केंद्रीय मंत्री की बहन के खिलाफ तक इन्होंने देश निकाला और पत्थर मारने का फतवा जारी कर दिया। सोचिये आम मुस्लिम के साथ फिर ये क्या करते होंगे? हैरानी की बात यह हैं कि महिला अधिकारों पर मुखर तमाम बुद्धिजीवियो ने इस मामले पर चुप्पी साध रखी हैं जिससे इन कट्टरपंथियों के हौसले लगातार बढ़ते जा रहे हैं।
भारद्वाज ने सभी हिन्दू संगठनों से अपील की हिंदुस्तान में ऐसी गुंडागर्दी नही होने देंगे यदि सरकार ने इन मुल्ला मौलवियों के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया तो हिन्दू शक्ति इस फतवा निकालने वाले का मुंह काला करेगी और अगर कोई और हिन्दू भी इसका मुंह काला करता है तो हिन्दू शक्ति उसको इकीस हजार रुपये का नगद पुरस्कार देकर सन्मानित करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *